आज की अभिव्यक्ती

दिंनाक: 09 Jan 2019 15:50:59

 

 


 

बाहर की दुनिया बिलकुल वैसी है, जैसा कि हम अंदर से सोचते हैं। हमारे विचार ही चीजों को सुंदर और बदसूरत बनाते हैं। पूरा संसार हमारे अंदर समाया हुआ है, बस जरूरत है चीजों को सही रोशनी में रखकर देखने की।

- स्वामी विवेकानन्द