दीनदयाल शोध संस्थान को महाराष्ट्र सरकार द्वारा मिला सम्मान

दिंनाक: 12 Feb 2019 16:23:38


दीनदयाल शोध संस्थान चित्रकूट सतना जिले के प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों एवं गाँव को तम्बाखू मुक्त करने हेतु ग्राम वासियों के सामूहिक सहयोग से प्रयासरत है। विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम जैसे- नशा मुक्ति रैली, बैठकें, सम्पर्क, प्रतियोगितायें इत्यादि का आयोजन समय-समय पर कर रहा है। इस कार्यक्रम के तहत मझगाँव विकास खण्ड में ग्रामीण कार्यकर्ताओं की एक बैठक सम्पन्न हो चुकी है।


जिला स्तर पर इस कार्यक्रम को विस्तार पूर्वक चलाने हेतु मा. जिलाधिकारी सतना से सम्पर्क किया गया है। उन्होंने अपनी सहमति भी प्रदान की है, ग्राम स्तर पर 49 स्वावलंबन केन्द्रों पर तम्बाखू मुक्त रैली, तम्बाखू मुक्त कार्यक्रम एवं प्रतियोगिताओं का आयोजन विद्यालय स्तर पर किया जा रहा है। 22 ग्राम पंचायतों के 33 प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में अध्यापकों एवं ग्राम सहयोग से ये कार्यक्रम सम्पन्न किये जा चुके है। ग्राम चुवा एवं रानीपुर के प्राथमिक एवं जूनियर विद्यालय तम्बाखू मुक्त हो चुके है। 6 ग्रामवासियों ने भी तम्बाखू हमेशा के लिए छोड़ दिया है। दीनदयाल शोध संस्थान को तम्बाखू मुक्त स्कूल के लिए दिनांक 7 फरवरी से 10 फरवरी 2019 राष्ट्रीय तम्बाखू नियंत्रण सेमीनार के लिए मुम्बई भी बुलाया गया, जहाँ पर टाटा मेमोरियल हास्पिटल के गोल्ड जुबली ब्लॉक में इस कार्यक्रम का अयोजन हुआ। इस कार्यक्रम का आयोजन सलाम मुम्बई फाउंडेशन द्वारा किया गया जिसमें देश, विदेश के प्रमुख चिकित्सक, दन्त चिकित्सक तथा विशेषज्ञों द्वारा तम्बाखू उत्पादों से बढ़ते नुकसान और उसके निराकरण के सन्दर्भ में विस्तृत चर्चा की गयी, और यह तय किया गया कि सरकार स्थानीय प्रशासन सहयोगी सस्थायें तथा स्थानीय नागरिको के सहयोग से तम्बाखू नियंत्रण कार्यक्रम विस्तृत रूप से किया जायें ताकि भविश्य में सब मिलकर तम्बाखू मुक्त भारत का निर्माण कर सके। महाराष्ट्र सरकार के शिक्षा एवं खेल मंत्री मा. विनोद तावडे जी द्वारा दीनदयाल शोध संस्थान को सम्मानित भी किया गया।