ग्रामोदय मेला - आदि ग्राम कुंभ 24 से 27 फरवरी 2017

दिंनाक: 19 Feb 2019 13:35:47


भोपाल(विसंके). भारत रत्न राष्ट्रऋषि नानाजी देशमुख के नवमीं पुण्य तिथि के अवसर पर दीनदयाल शोध संस्थान द्वारा चार दिवसीय बृहद् ग्रामोदय मेला-आदि ग्राम कुंभ का आयोजन (24 से 27 फरवरी 2019) तक सुरेन्द्रपाल ग्रामोदय विद्यालय खेल प्रांगण, दीनदयाल परिसर चित्रकूट में किया गया है, जिसमें देष की विरासत, प्रगति, विकास एवं संस्कृति को प्रदर्शित करने वाली अनेकानेक प्रदर्शनी, ग्राम्य विकास मॉडल, सेमीनार, साहित्य एवं बौद्धिक प्रतियोगितायें सम्पन्न करायी जा रही हैं। जिसमें भारत सरकार एवं विभिन्न प्रदेश सरकारों, निजी क्षेत्र के विभिन्न विभागों एवं लघु कुटीर उद्योगों के द्वारा आमजन के लिए ग्रामीण भारत की विशाल प्रदर्शनी लगायी जा रही है। जिसके अन्तर्गत भारत सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं के अन्तर्गत ट्राइफैड, कृषि, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, सूक्ष्म-लघु एवं मध्यम उद्योग, कौशल विकास, ग्रामीण विकास, पंचायतीराज, स्वच्छ पेयजल एवं स्वच्छता, उपभोक्ता, खाद्य प्रसंस्करण, स्वास्थ्य, रेलवे, राष्ट्रीय राज्य एवं परिवहन, पेट्रोलियम, विद्युत एवं नवीनीकृत उर्जा, जल संसाधन, तकनीकी शिक्षा एवं विज्ञान, इस्पात, रासायनिक उर्वरक, रक्षा, संस्कृति, जनजातीय कार्य मंत्रालय के अतिरिक्त खादी ग्रामोद्योग आयोग, उर्जा विकास निगम, दुग्ध डेयरी संघ, हथकरघा उद्योग, जैव विविधता बोर्ड, पषु चिकित्सा विभाग, आयुष विभाग, औद्योगिक सहकारी संघ, राष्ट्रीय बीज निगम कानपुर, के साथ ही लगभग 250 स्थानीय प्रतिनिधियों द्वारा क्षेत्र में उत्पादित जनोपयोगी वस्तुओं के साथ-साथ फूड कार्नर स्टाल, मनोरंजन हेतु विभिन्न प्रकार के झूले भी  आकर्षण का केन्द्र होंगे। विभिन्न विषयों पर प्रतिदिन संगोष्ठियों जिसमें 24 फरवरी को कौशल विकास से स्वरोजगार की ओर एवं जलवायु अनुकूलन जैविक एवं टिकाऊ खेती विषय पर कार्यषाला। 25 फरवरी को आयुर्वेदिक औषधियों का मानकीकरण एवं गुणवत्ता परीक्षण तथा बायोवर्सिटी इण्टरनेषनल की तरफ से पौध किस्म एवं कृषक अधिकार संरक्षण अभियान पर प्रषिक्षण एवं जागरूकता कार्यक्रम साथ ही पी.पी.बी.एफ.आर.ए. द्वारा किसान गोष्ठी लागत को कम करने हेतु कृषि की पद्धतियां, सीमांन्त एवं लघु कृषकों की आय वृद्धि हेतु समेकित खेती, माड़ल कृषकों के आर्थिक उन्नयन हेतु सब्जी, मसाला, औषधीय पौंधो एवं फूलों की खेती, अपनी खेती अपना बीज, जलवायु अनुकूल कृषि संरक्षण एवं प्रबंधन ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृजन हेतु कृषिगत उद्यम, भूमिहीन कृषकों की आजीविका उपार्जन हेतु वैकल्पिक आयाम, ग्रामीण युवक/युवतियों को कृषि के प्रति आकर्षण, पशु पालन, ग्रामीण रोजगार की अपरिहार्यता, जैविक खेती से कृषकों के स्वावलम्बन की संभावना, कृषकों के विपणन की समस्यायें एवं समाधान, संसाधन विहीन कृषकों की आय संवर्धन हेतु वनोपज आधारित उद्यम। 26-27 फरवरी को जल संस्कृति तथा खाद्य एवं पोषण सुरक्षा एवं मृदा स्वास्थ्य पर कार्यषाला तथा छात्र एवं वैज्ञानिक चर्चा हेतु विज्ञान चैपाल तथा सहयोगी कार्यकर्ता सम्मेलन कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा।


इसी क्रम में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन  ग्रामोदय मेला परिसर उद्यमिता विद्यापीठ दीनदयाल शोध संस्थान चित्रकूट सतना (म.प्र.) में आयोजित की जायेगी। जिसमें 24 फरवरी को 11 बजे से 01 बजे तक कलष अलंकरण प्रतियोगिता आयोजित की जायेगी, जिसमें 10 वर्ष से अधिक उम्र के प्रतिभागी प्रतिभाग कर सकते हैं। 25 फरवरी को 11 बजे से 01 बजे तक चित्रकला प्रतियोगिता, जिसमें माध्यमिक वर्ग कक्षा 6 से 8 तक विषय - चित्रकूट के प्राकृतिक दृष्य या ग्रामीण परिवेश, उच्चतर माध्यमिक वर्ग - कक्षा 9 से 12 तक विषय - किसी मेला का दृष्य या चित्रकूट का एक दर्शनीय स्थल, महाविद्यालीन वर्ग - कक्षा 12 से ऊपर विषय - कोई ऐतिहासिक या पौराणिक गाथा या पं. दीनदयाल उपाध्याय/भारत रत्न राष्ट्रऋषि नानाजी देशमुख का आलेख चित्र, मेंहदी प्रतियोगिता 12 बजे से 02 बजे तक 10 वर्ष से अधिक उम्र के प्रतिभागी प्रतिभाग कर सकते हैं। 26 फरवरी को निबंध प्रतियोगिता माध्यमिक वर्ग कक्षा 6 से 8 तक विषय मंदाकिनी स्वच्छता एवं संरक्षण, उच्चतर माध्यमिक वर्ग कक्षा 9 से 12 तक विषय प्लास्टिक पालीथिन का दुष्प्रभाव, महाविद्यालीन वर्ग में कक्षा 12 से ऊपर विषय गांव के विकास में डिजिटल इंडिया का योगदान, रंगोली प्रतियोगिता 11 बजे 1 बजे तक 10 वर्ष से अधिक उम्र के प्रतिभागी प्रतिभाग कर सकते हैं। मेले में पषु स्वस्थ्य प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। जिसमें पशुधन में गाय, बैल, भैंस, बकरी, घोडा, हाथी, गधा सम्मिलित किये जायेगें। प्रतियोगिता में सम्मिलित होने वाले पशु का स्वस्थ्य प्रतियोगिता का मापदंड होगा। हाथी एवं घोडा जैसे पशुओं की प्रतियोगिता में उŸाम स्वास्थ्य के साथ-साथ कलावाजी प्रषिक्षण भी मापदंड होगा। मेले में देष के प्रतिष्ठित महिला एवं पुरूष पहलवानों द्वारा 26 फरवरी को 01 बजे से कुश्ती का आयोजन किया जायेगा। ग्रामोदय मेला में हरियाणा के बूढ़ाखेरा गांव के रामनरेष बेनीवाल का मुर्राह नस्ल का 21 करोड़ का भैंसा सुल्तान साथ ही गिरि एवं शाहीवाल नस्ल के दो नंदी तथा 2 गायें भी आकर्षण का केन्द्र रहेगे।

ग्रामोदय मेला-आदि ग्राम कुंभ में भारत के महामहिम राष्ट्रपति महोदय एवं भारत सरकार के विभिन्न विभागों के मंत्रियों कई प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों तथा विभिन्न प्रदेशों के मा. राज्यपाल महोदय को मेले में आमंत्रित किया गया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह मा. भैया जी जोषी म.प्र. की राज्यपाल महामहिम आनंदीबेन पटेल समापन समारोह में सिरकत करेंगे। राज्यसभा के उपसभापति मा. हरबंश जी एवं उ.प्र. के मुख्यमंत्री मा. योगी आदित्यनाथ जी उपमुख्यमंत्री मा. केशव प्रसाद मौर्य के अतिरिक्त कई केन्द्रीय मंत्री एवं विभिन्न प्रदेशों के महामहिम राज्यपाल महोदय व प्रसिद्ध उद्योगपति तथा विभिन्न विष्वविद्यालयों के मा. कुलपति मेले में करेगें शिरकत।