आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 05 Feb 2019 11:29:40


 

मैं इस बात पर जोर देता हूँ कि मैं महत्त्वाकांक्षा ,
आशा और जीवन के प्रति आकर्षण से भरा हुआ हूँ।
पर मैं ज़रुरत पड़ने पर ये सब त्याग सकता हूँ,
और वही सच्चा बलिदान है।

- भगत सिंह