आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 08 Feb 2019 11:40:01

 


 

 

पौरुष, पराक्रम, वीरता हमारे रक्त के
रंग में मिली है । यह हमारी महान
परंपरा का अंग है । यह संस्कारों द्वारा
हमारे जीवन में ढाली जाती है ।

- अटल बिहारी वाजपेयी