घोष वादन से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने की बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की मानवंदना

दिंनाक: 14 Apr 2019 13:22:29


भोपाल। देश के संविधान निर्माता डॉ.साहेब  भीमराव  अंबेडकर की जयंती के अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने बोर्ड ऑफिस चौराहा स्थित अंबेडकर प्रतिमा के सामने मानवंदना का कार्यक्रम आयोजित किया। संघ के स्वयंसेवकों ने इस अवसर पर घोष (बैंड) का वादन कर बाबा साहेब  के प्रति सम्मान प्रकट किया। संघ के भोपाल विभाग के सह संघचालक डॉ राजेश सेठी एवं अन्य पदाधिकारियों ने बाबा साहेब  की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रतिवर्ष डॉ अंबेडकर की जयंती पर उनके सम्मान में मानवंदना का कार्यक्रम आयोजित करता है। रविवार 14 अप्रैल को सुबह 10 बजे संघ के स्वयंसेवकों के घोष का दल संचलन करते हुए बोर्ड ऑफिस चौराहे स्थित डॉ अंबेडकर की प्रतिमा के समक्ष पहुंचा और वहां स्वयंसेवकों ने संघ की परिपाटी के अनुसार अनुशासित पद्धति से घोष वादन से बाबा साहेब  की मानवंदना की। घोष दल ने घोष दंड के संकेत पर श्रृंगवाद, शंख, वंशी, आनक एवं प्रणव का वादन किया।

 

इस अवसर पर विभाग सह संघचालक डॉ राजेश सेठी ने कहा कि – संविधानविद, मौलिक चिन्तक, विचारक, समाजसुधारक और युगदृष्टा बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर मानते थे कि बंधुत्व भाव और समान भाव के बिना स्वतंत्रता का कोई मूल्य नहीं है। उन्होंने कहा कि बाबासाहेब भारतीयता के हामी थे और उन्हें भारतीय संस्कृति से बहुत लगाव था।