आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 24 Apr 2019 14:49:20


संत सुनी - समझी बातों का आख्यान नहीं करते, वे तो आँखों देखी बातें करते हैं. अपनी अनुभूतियों का निचोड़ दूसरों के हृदय में उतारते हैं.


-रामधारी सिंह दिनकर