कांग्रेस का हाथ अलगाववादियों व टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ!

दिंनाक: 03 Apr 2019 18:47:51

मेनिफेस्टो- AFSPA में करेंगे बदलाव, घाटी से हटाएगे सेंट्रल फोर्स


नई दिल्ली. कांग्रेस ने 2019 लोकसभा चुनावों को लेकर मंगलवार को अपना मेनिफेस्टो जारी कर दिया. मेनिफेस्टो में कांग्रेस ने जम्मू कश्मीर व अन्य विषयों को लेकर जो वादा किया है, ऐसा लगता है कि किसी अलगाववादी पार्टी का मेनिफेस्टो हो. मेनिफेस्टो में अर्बन नक्सल व अलगाववादियों की अधिकांश मांगों को शामिल किया गया है.


धारा 370 नहीं हटने देंगे

कांग्रेस ने मेनिफेस्टों मे स्पष्ट रूप से कहा है कि जम्मू कश्मीर ने विशेष परिस्थितियों में देश में अधिमिलन किया था, जिसके नतीजे में 370 शामिल किया था. लिहाजा कांग्रेस मौजूदा संविधान में कोई बदलाव नहीं होने देगी. यानि धारा 370 को नहीं हटाया जाएगा.

AFSPA में करेंगे बदलाव

कांग्रेस ने जम्मू कश्मीर में AFSPA यानि The Armed Forces (Special Powers) Act और The Disturbed Area Act में बदलाव करने का वायदा किया है. इसकी मांग अलगाववादी संगठन सालों से करते आ रहे हैं. हुर्रियत की मांग को कांग्रेस ने बिना किसी संकोच के सीधे मेनिफेस्टो में जगह दी है. साफ है कि इससे पाकिस्तान परस्त आतंकियों व अलगाववादियों को बढ़ावा मिलेगा और आतंक से लड़ रहे सुरक्षा बलों के जवानों का मनोबल कमजोर होगा.

कश्मीर घाटी से हटाएगे सेंट्रल फोर्सेस

मेनिफेस्टो में कांग्रेस ने वायदा किया है कि सत्ता में आने के बाद वो घाटी में तैनात आर्मी और सीआऱपीएफ-सीआईएसएफ जैसी तमाम सेंट्रल फोर्सेस की तैनाती कम करेगी और कश्मीर घाटी के लॉ-आर्डर को जम्मू कश्मीर के हवाले किया जाएगा.

सेना पर लगाया आरोप

कांग्रेस ने जम्मू कश्मीर में तैनात सुरक्षा बलों पर नागरिकों को प्रताड़ित करने तथा यौन हिंसा जैसे जघन्य आरोप लगाया है. इससे न केवल कांग्रेस की मनःस्थिति को समझा जा सकता है। कांग्रेस ने अलगाववादियों के सुर में सुर मिलाया है.

बातचीत से निकालेंगे कश्मीर का हल

कांग्रेस ने मेनिफेस्टो में वायदा किया है कि सिर्फ बातचीत से कश्मीर का हल निकालेगी. बातचीत के लिए कांग्रेस ने 3 इंटरलोक्यूटर नामित करने की घोषणा की है. जोकि आतंकियों और अलगाववादियों से बात करेगी. पिछले साल सुरक्षाबलों ने रिकॉर्ड आतंकियों को मार गिराया था. घाटी में आतंकियों की रीढ़ तोड़ दी गयी है.

कश्मीरी-पंडित और पाकिस्तानी आतंकवाद पर चुप्पी

कांग्रेस मेनिफेस्टो में जम्मू कश्मीर को लेकर विशेष तवज्जो दी गई है. लेकिन आश्चर्यजनक रूप से

कांग्रेस ने तीन दशकों से विस्थापित कश्मीरी पंडितों पर एक शब्द तक नहीं बोला. न ही घाटी में पाकिस्तान आतंकवाद को लेकर कुछ बोला. कांग्रेस ने जम्मू कश्मीर को लेकर घाटी केंद्रित और अलगाववाद प्रेरित वायदों की घोषणा की है.

टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ कांग्रेस

कांग्रेस ने अपने मेनिफेस्टो में आईपीसी की धारा 124ए को हटाने का वायदा किया है. यानि देश के टुकड़े-टुकड़े करने के नारे लगाना और आजादी की मांग करना, भारत में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाना अपराध नहीं होगा.