सलमान की फिल्म की शूटिंग में भगवान शिव का अपमान

दिंनाक: 09 Apr 2019 16:31:40


मध्यप्रदेश की धार्मिक नगरी महेश्वर जहां हर तरफ शिव भक्तों का जत्था दिख जाता है, मध्यप्रदेश का यह ‘गुप्त काशी’ साधू-संतों और मां नर्मदा की परिक्रमा कर रहे भक्तों के लिए साधना का एक ऐसा स्थान है जहां शिव की कृपा कण-कण में बस्ती है, लेकिन इस तीर्थ स्थल का बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान की फिल्म की शूटिंग के दौरान अपमान किया किया। फिल्म की शूटिंग के लिए पहले देवदर्शन पर रोक लगाई गई। इसके बाद शिवलिंग को तख्त से ढककर लोग जूतों के साथ उसके ऊपर चढ़कर खड़े हो गए।


फिल्म की शूटिंग से पहले तो राजबाड़ा के गेट को बंद किया गया और फिल्म निर्माताओं की सहूलियत के लिए देवदर्शन पर रोक लगा दी गई। फिर साधू-संतों के भेष में डांसर्स को फूहड़ स्टेप करते देखा गया। यहां तक भी सब ठीक था लेकिन जब शिवलिंग के ऊपर रखे तख़्त की तस्वीरें लोगों ने देखीं तो उनका गुस्सा फूट पड़ा। इन तस्वीरों में साफ़ देखा जा सकता है कि शिवलिंग को तख़्त से ढक दिया गया है और लोग जूतों के साथ उसके ऊपर चढ़कर खड़े हैं।

महेश्वर अपने खूबसूरत घाटों और प्राकृतिक वरदान के कारण हमेशा से फिल्म निर्माताओं का पसंदीदा स्थान रहा है। अक्षय कुमार की फिल्म पैडमैन और कंगना रनौत की फिल्म मणिकर्णिका की शूटिंग हाल में ही महेश्वर में पूरी हुई थी और अब इस सूची में अगला नाम जुड़ा सलमान खान की फिल्म दबंग 3 का। सलमान जब मध्यप्रदेश आये तो कहा कि मैं इंदौर का रहने वाला हूं और मुख्यमंत्री कमलनाथ सर के कहने पर महेश्वर में शूटिंग करने के लिए आया हूँ । हिंदुओं की मान्यताओं और आस्थाओं से खिलवाड़ के बाद इस पूरे मामले पर मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार की उदासीनता हिन्दू समाज को और पीड़ा पहुंचा रही है।

भारतीय जनता पार्टी और हिन्दू सगंठनों ने हिन्दू समाज की आस्थाओं से खिलवाड़ पर आपत्ति दर्ज करवाई है। प्रकरण के सामने आने के बाद भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में प्रेस कांफ्रेंस करके हिन्दू भावनाओं के अपमान पर आक्रोश व्यक्त किया। उन्होंने सलमान खान द्वारा शिवलिंग के अपमान पर कहा कि ऐसा भारत के इतिहास में कभी नहीं हुआ। इसके लिए सलमान खान को माफ़ी मांगनी चाहिए। उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी अपील की कि वह मुख्यमंत्री होने के नाते अपने कर्त्तव्य का पालन करें और हिन्दू भावनाओं का इस तरह अपमान करने के लिए सलमान खान के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज करने के आदेश दें।

सलमान खान ने खुद को शिवभक्त बताया

इस प्रकरण के बाद सलमान ने मीडिया के सामने आकर कहा कि वह शिवभक्त हैं। लेकिन हिन्दू समाज के लिए यह समझना कठिन है कि कोई शिवभक्त शिवलिंग का अपमान कैसे सह सकता है। जूते पहनकर शिवलिंग के ऊपर खड़े होने के विषय पर उन्होंने चुप्पी साध ली। उन्होंने इस पूरे प्रकरण पर हिन्दू समाज को निराश करने वाले व्यवहार का प्रदर्शन किया, माफी मांगने की जगह उन्होंने पूरे समय टाल मटोल की और बार-बार यह जताने का प्रयास किया कि उन्हें मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शूटिंग के लिए बुलाया था। मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए सलमान अपने परिचित गुस्से भरे अंदाज़ में दिखे, यहां तक कि जब एक बाउंसर उनके मीडिया के साथ हो रहे बातचीत के बीच में आया तो उन्होंने सबके सामने ही उसे थप्पड़ जड़ दिया।

भाजपा शासनकाल में कभी नहीं हुआ मान्यताओं का अपमान

विकास की बात करने वालों को यह याद रखना जरुरी है की महेश्वर में फिल्मों की शूटिंग की शुरुआत उनके कार्यकाल में नहीं हुई, महेश्वर में फिल्म निर्माताओं को लेकर के आने का श्रेय उसी पूर्ववर्ती सरकार के मुखिया शिवराज सिंह को जाता है। शिवराज सिंह के कार्यकाल में ही मध्यप्रदेश में शूटिंग के लिए फिल्म निर्माताओं को आमंत्रित किया गया था और उसके परिणामस्वरूप दर्जनों फिल्मों की शूटिंग प्रदेश में हुई। भाजपा शासन के 15 वर्षों में कभी हिंदू धर्म या अन्य किसी मजहब और पंत का अपमान नहीं हुआ।

साभार :- पाञ्चजन्य