आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 09 Apr 2019 17:16:18


एक राष्ट्र लोगों का एक समूह होता है जो ‘एक लक्ष्य’, ‘एक आदर्श’, ‘एक मिशन’ के साथ जीते हैं और एक विशेष भूभाग को अपनी मातृभूमि के रूप में देखते हैं | यदि आदर्श या मातृभूमि दोनों में से किसी का भी लोप हो तो एक राष्ट्र संभव नहीं हो सकता |

-पंडित दीनदयाल उपाध्याय