शांतिदूतों को रास नहीं आया शांति पूर्ण प्रदर्शन ।

दिंनाक: 09 Jan 2020 16:37:36

समर्थन को रोकने के लिए विरोधी कर रहे कुंठित प्रयास

मध्यप्रदेश में इन दिनों नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में जगह-जगह जनसैलाब उमड़ रहा है इतने व्यापक जन सैलाब और जन समर्थन को देखकर इस कानून का विरोध करने वाले चंद लोगों की सांसे फूली हुई है उन लोगों का यह जनसमर्थन रास नहीं आ रहा विरोधियों में इस समय भय का माहौल इस कदर है की जिसके कारण वह किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हैं ।

प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में भोपाल , उज्जैन , देवास , रतलाम सहित कई नगरों और महानगरों में इस इस कानून का समर्थन करने वाले लोग शांतिपूर्ण तरीके से सड़कों पर उतरे हैं और अल्पसंख्यकों के समर्थन में नारे लगाकर तो कहीं मौन रहकर अपना समर्थन जता रहे हैं आम लोगों का यह भरपूर जनसमर्थन देखकर विरोधी कुनबे के लोगों में बौखलाहट मची हुई है वह इस समर्थन को दबाने के लिए सभी प्रयास कर रहे हैं जिसका ताजा उदाहरण है उज्जैन और झाबुआ में समर्थन रैली का आयोजन करने वाले आयोजकों पर f.i.r. कराना   ।

शाजापुर में समर्थन रैली पर पथराव


शाजापुर में बुधवार को नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में निकाली गई रैली पर पथराव किया गया। इस रैली में लगभग 20 हजार लोग जुटे थे। स्थिति को गंभीर होता देख पुलिस ने मोर्चा संभालते हुए पत्थरबाजों को खदेड़ा।

बुधवार को राष्ट्र रक्षा मंच के बैनर तले दोपहर करीब डेढ़ बजे एबी रोड स्थित आइटीआई मैदान से रैली शुरू हुई। रैली में लगभग 20 हजार लोग शामिल हुए। रैली में शामिल लोगों के हाथों में तिरंगे झंडे, भगवा पताकाएं और सीएए कानून के समर्थन की तख्तियां भी थी। मौन रैली होने के बावजूद 'भारत माता की जय", 'वंदे मातरम" व अन्य जयघोष लगते रहे।

रैली कुरैशी मोहल्ले में पहुंची तो कुछ असामाजिक तत्वों ने पथराव कर दिया। इससे भगदड़ की स्थिति बन गई , शांतिदूतों द्वारा किए गए इस पथराव में एक कॉस्टेबल सहित 40 से पचास लोग घायल हुए हैं । वहीं पथराव करने वाले लोगों पर पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है ।