राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ समाजिक सकारात्मकता के लिए 15 लाख स्वयंसेवकों को करेगा सक्रियः डाॅ0 वीरसिंह रांगड़ा

दिंनाक: 18 Mar 2020 17:57:59


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ हिमाचल प्रांत के संघचालक डाॅ0 वीरसिंह रांगड़ा ने शिमला में जारी प्रैस-वक्तव्य में बैंगलुरू में आयोजित अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल बैठक की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि संघ सामाजिक सकारात्मकता के लिए 15 लाख स्वयंसेवकों को सक्रिय करेगा और इसके साथ ही देश की चुनौतियों से निपटने के लिए युवाआंे को प्रशिक्षित भी किया जायेगा। रांगड़ा ने बताया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाओं में पिछले वर्ष की तुलना में बढ़ौतरी हुई है और देशभर में संघ कार्य का ग्राफ बढ़ा है। उन्होंने बताया कि बैगलुरू में प्रतिनिधि सभा की बैठक आयोजित की गयी थी लेकिन कर्नाटक में कोरोना कोविड-19 वायरस के कारण उसे निरस्त कर कार्यकारी मंडल की ही बैठक हुई।


अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक में तीन प्रस्ताव पारित किए गए हैं। इन प्रस्तावों की जानकारी देते हुए वीरसिंह रांगड़ा ने बताया कि पहला प्रस्ताव जम्मू और कश्मीर से धारा 370 और 35 ए को निरस्त करने के सरकार द्वारा लिए गये ऐतिहासिक निर्णय से जुड़ा है। संसद के इस निर्णय का संघ ने स्वागत किया है।
दूसरा प्रस्ताव रामजन्मभूमि के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के लिए सरकार तथा न्यायालय का अभिनंदन करते हुए प्रस्ताव पारित किया गया है।


तीसरा प्रस्ताव को लेकर सरकार्यवाह भैया जी जोशी ने बताया कि यह नागरिकता कानून में संशोधन को लेकर है जिससे बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के शिकार होकर भारत आए अल्पसंख्यकों को नागरिकता दी जा सके। बैठक के दौरान भैया जी ने कहा कि सरकार ने सीएए का कानून पारित किया इसके लिए भी हम सरकार का अभिनंदन करते हैं।
प्रांत संघचालक वीरसिंह रांगड़ा ने हिमाचल प्रांत में स्वयंसेवकों का आह्वान किया है कि वे कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार, सामाजिक संगठनों और यहां के नागरिकों के साथ मनोयोग से सहयोग करे।