जयंती/पुण्यतिथि

24 सितंबर 1861 - जन्म दिवस / भारत की वीर पुत्री भीकाजी कामा (मैडम कामा)

भीकाजी कामा जो मैडम कामा के नाम से विख्यात है, भारतीय स्वतन्त्रता आंदोलन एक ऐसा नाम है, जिन्होंने भारत को परतन्त्रता से मुक्त कराने के साथ-साथ विदेशों में क्रांतिकारी आन्दोलन में भी अहम योगदान दिया. एक पारसी टिप्पणीकार ने उनके बारे में कहा था उनका मन अपने..

22 सितम्बर जन्म दिवस - देश एवं विदेश में बसे भारतीयों की सेवा को समर्पित “श्री श्रीनिवास शास्त्री”

अपने विचारों की स्पष्टता के साथ ही दूसरे के दृष्टिकोण को भी ठीक से सुनने, समझने एवं स्वीकार करने की क्षमता होने के कारण श्री वी.एस श्रीनिवास शास्त्री एक समय गांधी जी और लार्ड इरविन में समझौता कराने में सफल हुए। इसके लिए 4 मार्च, 1931 क..

20 सितम्बर पुण्य तिथि - एकात्मता के पुजारी : नारायण गुरु / हिन्दू धर्म विश्व का सर्वश्रेष्ठ

धर्म है; पर छुआछूत और ऊंचनीच जैसी कुरीतियों के कारण हमें नीचा भी देखना पड़ता है। इसका सबसे अधिक प्रकोप किसी समय केरल में था। इससे संघर्ष कर एकात्मता का संचार करने वाले श्री नारायण गुरु का जन्म 1856 ई. में तिरुअनंतपुरम् के पास चेम्बा जन..

19 सितम्बर 1867 - जन्म दिवस / वेदमूर्ति : पंडित श्रीपाद सातवलेकर

                              वेदों के सुप्रसिद्ध भाष्यकार पंडित श्रीपाद दामोदर सातवलेकर का जन्म 19 सितम्बर, 1867 को महाराष्ट्र के सावंतवाड़ी रियासत..

18 सितम्बर बलिदान दिवस - महाराजा शंकर शाह और राजकुमार रघुनाथ शाह / कविता सुनाकर मृत्यु को गले लगाया

1857 ई. में जबलपुर में तैनात अंग्रेजों की 52वीं रेजिमेण्ट का कमाण्डर क्लार्क बहुत क्रूर था। वह छोटे राजाओं, जमीदारों एवं जनता को बहुत परेशान करता था। यह देखकर गोण्डवाना (वर्तमान जबलपुर) के राजा शंकरशाह ने उसके अत्याचारों का विरोध करने ..

17 सितम्बर, 1948 - निजाम का आत्म समर्पण – हैदराबाद का भारत मे विलय

जब १९४७ में भारत आजाद हो गया उसके बाद हैदराबाद की जनता भी भारत में विलय चाहती थी. पर उनके आन्दोलन को निजाम ने अपनी निजी सेना रजाकार के द्वारा दबाना शुरू कर दिया. रजाकार एक निजी सेना (मिलिशिया) थी जो निजाम ओसमान अली खान के शासन को बनाए रखने तथा हैदराबाद ..

15 सितम्बर - जन्म दिवस / लांस नायक करम सिंह ( परम वीर चक्र )

लांस नायक करम सिंह ( 15 सितम्बर 1915 – 20 जनवरी 1993 ) पंजाब के बरनाला में जन्में एक सिख थे. 1947 में हुए भारत – पाकिस्तान युद्ध में अभूतपूर्व वीरता के लिए जिन्हें भारत के सेना के वीरों को प्रदान किये जाने वाले सर्वोच्च सम्मान ” परम वीर ..

हिंदुस्तानी कला, आचार-विचार को नए संदर्भ व व्याख्या और परिभाषा के साथ उजागर करने वाले

  नई दिल्ली. आनंद कुमार स्वामी ने पश्चिम के सामने हिंदुस्तानी कला ही नहीं, आचार-विचार को नए संदर्भ, नई व्याख्या और परिभाषा के साथ उजागर किया. वे मूल रूप से सिंहली थे. उनका जन्म भी तब के सिलोन और आज के श्रीलंका में हुआ था. उनका परिवार तमिल भाषी था. प..

14 सितम्बर, 1858 / देशभक्त लाला जयदयाल बलिदान दिवस

1857 में जहाँ एक ओर स्वतन्त्रता के दीवाने सिर हाथ पर लिये घूम रहे थे, वहीं कुछ लोग अंग्रेजों की चमचागीरी और भारत माता से गद्दारी को ही अपना धर्म मानते थे। कोटा (राजस्थान) के शासक महाराव अंग्रेजों के समर्थक थे। पूरे देश में क्रान्ति की चिनगारियाँ..

11 सितंबर - पुण्य तिथि / राष्ट्र चेतना के कवि सुब्रह्मण्यम भारती

महाकवि सुब्रमण्यम भारती ऐसे साहित्यकार थे जो सक्रिय रूप से स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल रहे जबकि उनकी रचनाओं से प्रेरित होकर दक्षिण भारत में बड़ी तादाद में आम लोग आजादी की लड़ाई में कूद पड़े। भारती देश के महान कवियों में एक थे जिनकी पकड़ हिंदी बंगाली ..

जन्म दिवस पर विशेष: हिंदी नवजागरण के प्रतीक भारतेंदु

1857 का प्रथम स्वाधीनता संग्राम बेशक नाकाम रहा, लेकिन वह भारतीय समाज में आधुनिकता की सोच का गवाक्ष भी रहा है। अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ पहली बड़ी बगावत की भारतीय समाज को काफी कीमत चुकानी पड़ी। लाखों लोग मारे गए, लोगों की संपत्ति अंग्रेज सरकार ने जब्ती के न..

परमवीर अब्दुल हमीद / बलिदान दिवस – 10 सितम्बर, 1965

1965 में पाकिस्तान ने भारत के विरुद्ध युद्ध छेड़ दिया. उसी संग्राम के दरम्यान पंजाब के तरन-तारण जिले के छोटे से कस्बे खेम-करन में भारत और पाकिस्तानी आर्मी के बीच व्यापक पैमाने पर टैंक युद्ध हुआ जिसमे भारत ने अंततः पाकिस्तान को बुरी तरह पराजित करते हुए उस..

8 सितंबर, 1449 - जन्म दिवस / गुरु नानकदेव के बड़े पुत्र एवं उदासीन सम्प्रदाय के प्रवर्तक बाबा श्रीचंद

हिन्दू धर्म एक खुला धर्म है। इसमें हजारों मत, पंथ और सम्प्रदाय हैं। इस कारण समय-समय पर अनेक नये पंथ और सम्प्रदायों का उदय हुआ है। ये सब मिलकर हिन्दू धर्म की बहुआयामी धारा को सबल बनाते हैं। उदासीन सम्प्रदाय भी ऐसा ही एक मत है। इसके प्रवर्तक बाबा ..

7 सितम्बर, 1826 - जन्म दिवस / राष्ट्रऋषि राजनारायण बसु

बंगाल की अनेक विभूतियों ने भारत देश और हिन्दू धर्म को सार्थक दिशा दी है। 7 सितम्बर, 1826 को बोड़ाल ग्राम में जन्मे राष्ट्रऋषि राजनारायण बसु भी उनमें से एक थे। इनके पूर्वज बल्लाल सेन के युग में गोविन्दपुर में बसे थे। कुछ समय बाद अंग्रेजों ने..

5 सितम्बर - जन्म दिवस / प्रख्यात दर्शनशास्त्री, आदर्श शिक्षक डा. राधाकृष्णन

प्रख्यात दर्शनशास्त्री, अध्यापक एवं राजनेता डा. राधाकृष्णन का जन्म पाँच सितम्बर 1888 को ग्राम प्रागानाडु (जिला चित्तूर, तमिलनाडु) में हुआ था। इनके पिता वीरस्वामी एक आदर्श शिक्षक तथा पुरोहित थे। अतः इनके मन में बचपन से ही हिन्दू धर्म एवं दर्शन के..

4 सितम्बर - जन्म दिवस / प्रातः स्मरणीय दादा भाई नौरोजी

दादा भाई नौरोजी का जन्म चार सितम्बर, 1825 को मुम्बई के एक पारसी परिवार में हुआ था। उनके पिता श्री नौरोजी पालनजी दोर्दी तथा माता श्रीमती मानिकबाई थीं। जब वे छोटे ही थे, तो उनके पिता का देहान्त हो गया; पर उनकी माता ने बड़े धैर्य से उनकी देखभाल की। यद्यपि ..

3 सितम्बर, 1857 - बलिदान दिवस / बाल बलिदानी कुमारी मैना

1857 के स्वाधीनता संग्राम में प्रारम्भ में तो भारतीय पक्ष की जीत हुई; पर फिर अंग्रेजों का पलड़ा भारी होने लगा। भारतीय सेनानियों का नेतृत्व नाना साहब पेशवा कर रहे थे। उन्होंने अपने सहयोगियों के आग्रह पर बिठूर का महल छोड़ने का निर्णय कर लिया। उनकी योजना थी ..

1 सितम्बर, 1604 - श्री हरिमन्दिर साहिब (स्वर्ण मंदिर) के पहले ग्रन्थी “बाबा बुड्ढा जी” की नियुक्ति

सिख इतिहास में बाबा बुड्ढा का विशेष महत्त्व है। वे पंथ के पहले गुरु नानकदेव जी से लेकर छठे गुरु हरगोविन्द जी तक के उत्थान के साक्षी बने। बाबा बुड्ढा का जन्म अमृतसर के पास गांव कथू नंगल में अक्तूबर, 1506 ई. में हुआ था। बाद में उनका परिवार गांव रमदास में आक..

31 अगस्त 1908 - अलीपुर बम कांड के द्रोही नरेन्द्र गोस्वामी का वध

स्वाधीनता प्राप्ति के प्रयत्न में लगे क्रांतिकारियों को जहां एक ओर अंग्रेजों ने लड़ना पड़ता था, वहां कभी-कभी उन्हें देशद्रोही भारतीय, यहां तक कि अपने गद्दार साथियों को भी दंड देना पड़ता था। बंगाल के प्रसिद्ध अलीपुर बम कांड में कन्हाईलाल दत्त, &..

30 अगस्त 1659 - पुण्य तिथि / उपनिषदों के फारसी मे अनुवादक “दारा शिकोह”

दारा शिकोह  मुग़ल बादशाह शाहजहाँ औरमुमताज़ महल का सबसे बड़ा पुत्र था। शाहजहाँ अपने इस पुत्र को बहुत अधिक चाहता था और इसे मुग़ल वंश का अगला बादशाह बनते हुए देखना चाहता था। शाहजहाँ भी दारा शिकोह को बहुत प्रिय था। वह अपने पिता को पूरा मान-सम्मान दे..

29 अगस्त जन्म दिवस / हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचन्द

कोई समय था, जब भारतीय हॉकी का पूरे विश्व में दबदबा था। उसका श्रेय जिन्हें जाता है, उन मेजर ध्यानचन्द का जन्म प्रयाग, उत्तर प्रदेश में 29 अगस्त, 1905 को हुआ था। उनके पिता सेना में सूबेदार थे। उन्होंने 16 सा..

28 अगस्त- जन्म-दिवस, प्रथम प्रचारक : बाबासाहब आप्टे

भोपाल(विसंके). 28 अगस्त, 1903 को यवतमाल, महाराष्ट्र के एक निर्धन परिवार में जन्मे उमाकान्त केशव आप्टे का प्रारम्भिक जीवन बड़ी कठिनाइयों में बीता। 16 वर्ष की छोटी अवस्था में पिता का देहान्त होने से परिवार की सारी जिम्मेदारी इन पर ही आ गयी। इन्हें पुस्तक प..

27 अगस्त - जन्म दिवस / वचन के धनी शारदाचरण जोशी

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में अनेक ऐसे जीवनव्रती प्रचारक हुए हैं, जिनके जीवन की किसी घटना ने उन्हें राष्ट्रसेवा के पथ पर चलने की जीवन भर प्रेरणा दी। ऐसे ही एक प्रचारक थे श्री शारदाचरण जोशी। उन्होंने संघ के द्वितीय सरसंघचालक श्री गुरुजी को दिये वचन को ज..

24 अगस्त - जन्म दिवस / अमर शहीद राजगुरु

सामान्यतः लोग धन, पद या प्रतिष्ठा प्राप्ति के लिए एक-दूसरे से होड़ करते हैं; पर क्रांतिवीर राजगुरु सदा इस होड़ में रहते थे कि किसी भी खतरनाक काम का मौका भगतसिंह से पहले उन्हें मिलना चाहिए। श्री हरि नारायण और श्रीमती पार्वतीबाई के पुत्र शिवराम ह..

23 अगस्त - बलिदान दिवस / हिन्दू जागरण के अग्रदूत : स्वामी लक्ष्मणानंद जी

कंधमाल उड़ीसा का वनवासी बहुल पिछड़ा क्षेत्र है। पूरे देश की तरह वहां भी 23 अगस्त, 2008 को जन्माष्टमी पर्व मनाया जा रहा था। रात में लगभग 30-40 क्रूर चर्चवादियों ने फुलबनी जिले के तुमुडिबंध से तीन कि.मी दूर स्थित जलेसपट्टा कन्याश्रम..

22 अगस्त - जन्म दिवस / संकल्प के धनी वैज्ञानिक डा. जगमोहन गर्ग

‘‘भारत की उन्नति स्वदेशी उद्योगों के बल पर ही हो सकती है। इसलिए हमें विदेशों का मुँह देखने की बजाय स्वयं ही आगे आना होगा।’’ संघ के द्वितीय सरसंघचालक श्री गुरुजी ने जब ये शब्द युवा वैज्ञानिक जगमोहन को कहे, तो उन्होंने तत्क..

मध्यप्रदेश में सरस्वती शिशु मंदिर योजना के शिल्पकार - श्री रोशनलाल सक्सेना

भोपाल(विसंके). सीधी में दिनांक ५ अक्टूबर १९३१ को जन्मे श्री रोशनलाल सक्सेना ने रीवा से गणित में एम.एस.सी. किया ! १९४३ से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाओं में गटनायक. गणशिक्षक, मुख्यशिक्षक, रीवा नगर कार्यवाह आदि उत्तरदायित्वों का निर्वाह किया ! १९६२,१९६३ ..

21 अगस्त - बलिदान दिवस / देशसेवा को समर्पित पत्रकार शोएबुल्लाह

देशसेवा एवं सत्य की रक्षा में जिन पत्रकारों ने अपना बलिदान दिया, उनमें भाग्यनगर (हैदराबाद) के शोएबुल्लाह का नाम भी स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाता है। शोएब का जन्म 12 अक्तूबर, 1920 को आन्ध्र प्रदेश के वारंगल जिले के महबूबाबाद में हुआ था। ..

18 अगस्त, 1700 - जन्म दिवस / अपराजेय योद्धा पेशवा बाजीराव

छत्रपति शिवाजी महाराज ने अपने भुजबल से एक विशाल भूभाग मुगलों से मुक्त करा लिया था। उनके बाद इस ‘स्वराज्य’ को सँभाले रखने में जिस वीर का सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण योगदान रहा, उनका नाम था बाजीराव पेशवा। बाजीराव का जन्म 18 अ..

20 अगस्त - जन्म दिवस / एकात्मता के पुजारी “पू. संत श्री नारायण गुरु”

हिन्दू धर्म विश्व का सर्वश्रेष्ठ धर्म है; पर छुआछूत और ऊंचनीच जैसी कुरीतियों के कारण हमें नीचा भी देखना पड़ता है। इसका सबसे अधिक प्रकोप किसी समय केरल में था। इससे संघर्ष कर एकात्मता का संचार करने वाले श्री नारायण गुरु का जन्म 20, अगस्त 1856 ..

17 अगस्त - बलिदान दिवस / अमर बलिदानी मदनलाल ढींगरा

तेजस्वी तथा लक्ष्यप्रेरित लोग किसी के जीवन को कैसे बदल सकते हैं, मदनलाल ढींगरा इसका उदाहरण है। उनका जन्म अमृतसर में हुआ था। उनके पिता तथा भाई वहाँ प्रसिद्ध चिकित्सक थे। बी.ए. करने के बाद मदनलाल को उन्होंने लन्दन भेज दिया। वहाँ उसे क्रान्तिकारी श्यामज..

भारतीय राजनीति के अजातशत्रु कहे जाने वाले बीजेपी नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में अंतिम साँस ली’

भोपाल(विसंके). धूल और धुएँ की बस्ती में पले एक साधारण अध्यापक के पुत्र श्री अटलबिहारी वाजपेयी दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री बने। उनका जन्म 25 दिसंबर 1925 को हुआ। अपनी प्रतिभा, नेतृत्व क्षमता और लोकप्रियता के कारण वे चार दशकों से भी अधिक समय..

16 अगस्त 1904 - जन्म दिवस / राष्ट्रीय चेतना की सजग कवयित्री सुभद्रा कुमारी चौहान

खूब लड़ी मरदानी वह तो झांसी वाली रानी थी’  कविता की लेखक सुभद्रा कुमारी चौहान का जन्म 16 अगस्त, 1904 (नागपंचमी) को प्रयाग (उ.प्र.) के पास ग्राम निहालपुर में ठाकुर रामनाथ सिंह के घर में हुआ था। उन्हें बचपन से ही कविता लिखने का शौ..

15 अगस्त - जन्म दिवस / स्वतन्त्रता के उद्घोषक श्री अरविन्द घोष

भारतीय स्वाधीनता संग्राम में श्री अरविन्द का महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है। उनका बचपन घोर विदेशी और विधर्मी वातावरण में बीता; पर पूर्वजन्म के संस्कारों के बल पर वे महान आध्यात्मिक पुरुष कहलाये। उनका जन्म 15 अगस्त, 1872 को डा. कृष्णधन घोष के घर में हुआ था। उ..

14 अगस्त 1915 - सरदार बन्तासिंह का बलिदान

अपनी मृत्यु की बात सुनते ही अच्छे से अच्छे व्यक्ति का दिल बैठ जाता है। उसे कुछ खाना-पीना अच्छा नहीं लगता; पर भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम में ऐसे क्रान्तिकारी भी हुए हैं, फाँसी की तिथि निश्चित होते ही प्रसन्नता से जिनका वजन बढ़ना शुरू हो गया। ऐसे ही एक वीर थ..

13 अगस्त - जन्म दिवस / मारवाड़ के रक्षक वीर दुर्गादास राठौड़

अपनी जन्मभूमि मारवाड़ को मुगलों के आधिपत्य से मुक्त कराने वाले वीर दुर्गादास राठौड़ का जन्म 13 अगस्त, 1638को ग्राम सालवा में हुआ था। उनके पिता जोधपुर राज्य के दीवान श्री आसकरण तथा माता नेतकँवर थीं। आसकरण की अन्य पत्नियाँ नेतकँवर से जलती थीं। अतः मजबूर होकर ..

12 अगस्त - जन्म दिवस / महान वैज्ञानिक डा. विक्रम साराभाई

भोपाल(विसंके). जिस समय देश अंग्रेजों के चंगुल से स्वतन्त्र हुआ, तब भारत में विज्ञान सम्बन्धी शोध प्रायः नहीं होते थे। गुलामी के कारण लोगों के मानस में यह धारणा बनी हुई थी कि भारतीय लोग प्रतिभाशाली नहीं है। शोध करना या नयी खोज करना इंग्लैण्ड, अमरीका, रूस, ..

11अगस्त - अमर बलिदान दिवस / बलिदानी खुदीराम बोस

भारतीय स्वतन्त्रता के इतिहास में अनेक कम आयु के वीरों ने भी अपने प्राणों की आहुति दी है। उनमें खुदीराम बोस का नाम स्वर्णाक्षरों में लिखा जाता है। उन दिनों अनेक अंग्रेज अधिकारी भारतीयों से बहुत दुर्व्यवहार करते थे। ऐसा ही एक मजिस्ट्रेट किंग्सफोर्ड उन दिनों..

10 अगस्त--पुण्य-तिथि / आदर्श कार्यकर्ता मधुकर राव भागवत

भोपाल(विसंके). संघ के वर्तमान सरसंघचालक श्री मोहन भागवत के पिता श्री मधुकर राव भागवत एक आदर्श गृहस्थ कार्यकर्ता थे। गुजरात की भूमि पर संघ बीज को रोपने का श्रेय उन्हें ही है। विवाह से पूर्व और बाद में भी प्रचारक के नाते उन्होंने वहां कार्य किया। वे गुजरात ..

10 अगस्त - जन्म दिवस / संगीत सम्राट पं. विष्णु नारायण भातखण्डे

आज जिस सहजता से हम शास्त्रीय संगीत सीख सकते हैं, उसे विकसित करने में पंडित विष्णु नारायण भातखंडे का अप्रतिम योगदान है। उनका जन्म 10 अगस्त, 1860 (जन्माष्टमी) को मुंबई में हुआ था। उनकी शिक्षा पहले मुंबई और फिर पुणे में हुई। वे व्यवसाय से वकील थे तथा मु..

9 अगस्त, 1925 / काकोरी कांड का ऐतिहासिक दिन

9 अगस्त 1925 को रेल से ले जाये जा रहे सरकारी खजाने को क्रान्तिकारियों द्वारा लखनऊ के पास काकोरी रेलवे स्टेशन के पास लूट लिया था। यह कांड​ काकोरी काण्ड के नाम से ​ भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के​ ईतिहास मे प्रसिद्ध है. क्रान्तिकारियों द्व..

8 अगस्त / राज्याभिषेक दिवस - प्रतापी राजा कृष्णदेव राय

एक के बाद एक लगातार हमले कर विदेशी मुस्लिमों ने भारत के उत्तर में अपनी जड़े जमा ली थीं। अलाउद्दीन खिलजी ने मलिक काफूर को एक बड़ी सेना देकर दक्षिण भारत जीतने के लिए भेजा। 1306 से 1315 ई. तक इसने दक्षिण में भारी विनाश किया। ऐसी विकट परिस्थिति में हरिहर औ..

"7 अगस्त-जन्म-दिवस" – ग्राम विकास के पुरोधा सुरेन्द्र सिंह चौहान

भोपाल(विसंके). गांव का विकास केवल सरकारी योजनाओं से नहीं हो सकता। इसके लिए तो ग्रामवासियों की सुप्त शक्ति को जगाना होगा। म.प्र. के नरसिंहपुर जिले में स्थित मोहद ग्राम के निवासी श्री सुरेन्द्र सिंह चौहान ने इस विचार को व्यवहार रूप में परिणत कर अपने गांव को..

7 अगस्त 1925 - जन्म दिवस / महान कृषि वैज्ञानिक एम एस स्वामीनाथन

पौधों के जेनेटिक वैज्ञानिक एम एस स्वामीनाथन का जन्म: 7 अगस्त 1925, कुम्भकोणम, तमिलनाडु मे हुआ।  उन्होंने 1966 में मैक्सिको के बीजों को पंजाब की घरेलू किस्मों के साथ मिश्रित करके उच्च उत्पादकता वाले गेहूं&n..

6 अगस्त 1945 - मानव इतिहास का कलंक – हिरोशिमा पर परमाणु हमला

भोपाल(विसंके). आज से ठीक 70 वर्ष पूर्व 6 अगस्त 1945 को अमेरिका ने जापान के शहर हिरोशिमा पर पहला परमाणु बम गिराया था. उस परमाणु हमले की विभीषिका आज भी रोंगटे खड़े कर देने वाली है ,ऐसा लगता है कि अब अगर परमाणु युद्ध हुए तो पूरी..

5 अगस्त - जन्म दिवस / ओजस्वी कवि डा. शिवमंगल सिंह ‘सुमन’

इन दिनों कविता के नाम पर प्रायः चुटकुले और फूहड़ता को ही मंचों पर अधिक स्थान मिल रहा है। यद्यपि श्रेष्ठ काव्य के श्रोताओं की कमी नहीं है; पर फिल्मों और दूरदर्शन के स्तरहीन कार्यक्रमों ने काव्य जैसी दैवी विधा को भी बाजार की वस्तु बना दिया है। वरिष्ठ कवि डा..

4 अगस्त - जन्म दिवस - हिमाचल के गौरव डा. यशवंत सिंह परमार

भोपाल(विसंके). 1947 में देश स्वतन्त्र होने के बाद 15 अपै्रल, 1948 को हिमाचल प्रदेश का एक केन्द्र शासित प्रदेश के रूप में गठन हुआ। तब इसे एक दूरदर्शी तथा राजनीतिक सूझबूझ वाले नेता व कुशल प्रशासक की आवश्यकता थी। स्वतन्त्रता सेनानी वैद्य सूरत सिंह ने डा.&nbs..

3 अगस्त - जन्म दिवस / राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त

भोपाल(विसंके). यों तो दुनिया की हर भाषा और बोली में काव्य रचने वाले कवि होते हैं। भारत भी इसका अपवाद नहीं हैं; पर अपनी रचनाओं से राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति पाने वाले कवि कम ही होते हैं। श्री मैथिलीशरण गुप्त हिन्दी भाषा के एक ऐसे ही महान कवि थे, जिन्हें राष्..

2 अगस्त, 1861 – जन्मदिवस / भारतीय रसायनशास्त्र के जनक डॉ. प्रफुल्ल चंद्र राय

आचार्य प्रफुल्ल चन्द्र राय भारत में रसायन विज्ञान के जनक माने जाते हैं। वे एक सादगीपसंद तथा देशभक्त वैज्ञानिक थे जिन्होंने रसायन प्रौद्योगिकी में देश के स्वावलंबन के लिए अप्रतिम प्रयास किए।  ये आधुनिक भारत की पहली पीढ़ी के वैज्ञानिक थे जिनके कार्यों ..

1 अगस्त - पुण्य तिथि / स्वतन्त्रता आंदोलन में उग्रवाद के प्रणेता लोकमान्य तिलक

बीसवीं सदी के प्रारम्भ में भारतीय स्वतन्त्रता के आन्दोलन में एक मंच के रूप में कार्यरत कांग्रेस में स्पष्टतः दो गुट बन गये थे। एक नरम तो दूसरा गरम दल कहलाता था। पहले के नेता गोपाल कृष्ण गोखले थे, तो दूसरे के लोकमान्य तिलक। इतिहास में आगे चलकर लाल-बाल-पाल ..

31 जुलाई - जन्म दिवस मुंशी प्रेमचन्द – आधुनिक युग के श्रेष्ठ साहित्यकार

उपन्यास सम्राट प्रेमचंद का मूल नाम धनपतराय था। उनका जन्म ग्राम लमही (वाराणसी, उ.प्र.) में 31 जुलाई, 1880 को हुआ था। घर में उन्हें नवाब कहते थे। उत्तर प्रदेश तथा दिल्ली के निकटवर्ती क्षेत्र में मुस्लिम प्रभाव के कारण बोलचाल में प्रायः लोग उर्दू का प्रयोग क..

28 जुलाई – इतिहास स्मृति / त्रिपुरा के बलिदानी स्वयंसेवक

विश्व भर में फैले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के करोड़ों स्वयंसेवकों के लिए 28 जुलाई, 2001 एक काला दिन सिद्ध हुआ। इस दिन भारत सरकार ने संघ के उन चार वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की मृत्यु की विधिवत घोषणा कर दी, जिनका अपहरण छह अगस्त, 1999 को त्रिपुरा राज्य में कंचनपुर ..

27 जुलाई - जन्म दिवस / सरसंघचालकों के पत्रलेखक : बाबूराव चौथाइवाले

श्री कृष्णराव एवं श्रीमती इंदिरा के सबसे बड़े पुत्र मुरलीधर कृष्णराव (बाबूराव) चौथाइवाले का जन्म 27 जुलाई,  1922 को बारसी (जिला सोलापुर, महाराष्ट्र) में हुआ था। यह परिवार मूलतः यहीं का निवासी था; पर बाबूराव के पिता पहले कलमेश्वर और फिर नागपुर में अध्..

26 जुलाई, 1999 / कारगिल विजय दिवस

सन 1947 में भारत आजाद तो हो गया था लेकिन यह आजादी भारत को पाकिस्तान से अलग होने की कीमत पर मिली थी. पाकिस्तान तो भारत से अलग हो गया लेकिन पाकिस्तान की नापाक मांग “कश्मीर” भारत का ताज बना रहा. कई सालों तक पाकिस्तान ने “कश्म..

25 जुलाई - बलिदान दिवस अमर बलिदानी श्रीदेव सुमन

भोपाल(विसंके). 1947 से पूर्व भारत में राजे-रजवाड़ों का बोलबाला था। कई जगह जनता को अंग्रेजों के साथ उन राजाओं के अत्याचार भी सहने पड़ते थे। श्रीदेव‘सुमन’ की जन्मभूमि उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल में भी यही स्थिति थी। उनका जन्म 25 मई, 1916 को बमुण्..

24 जुलाई - बलिदान दिवस नरसिंहगढ़ का शेर “कुंवर चैनसिंह”

भारत की स्वतन्त्रता के लिए किसी एक परिवार, दल या क्षेत्र विशेष के लोगों ने ही बलिदान नहीं दिये। देश के कोने-कोने में ऐसे अनेक ज्ञात-अज्ञात वीर हुए हैं, जिन्होंने अंग्रेजों से युद्ध में मृत्यु तो स्वीकार की; पर पीछे हटना या सिर झुकाना स्वीकार नहीं किया। ऐस..

23 जुलाई – जन्मदिवस / चंद्रशेखर आजाद, आजाद ही रहे हैं, आजाद ही रहेंगे

भोपाल(विसंके). आजाद का जन्‍म 23 जुलाई 1906 आदिवासी ग्राम भावरा में हुआ था.इनके पिता का नाम सीताराम तिवारी और माता का नाम जगरानी देवी था.इनके पिता मूल रूप से उत्‍तर प्रदेश के उन्‍नाव जिले के बदर गॉव के रहने वाले थे लेकिन भीषण अकाल पडने कारण उन्..

23 जुलाई - जन्म दिवस / स्वतन्त्रता आंदोलन में उग्रवाद के प्रणेता लोकमान्य तिलक

बीसवीं सदी के प्रारम्भ में भारतीय स्वतन्त्रता के आन्दोलन में एक मंच के रूप में कार्यरत कांग्रेस में स्पष्टतः दो गुट बन गये थे। एक नरम तो दूसरा गरम दल कहलाता था। पहले के नेता गोपाल कृष्ण गोखले थे, तो दूसरे के लोकमान्य तिलक। इतिहास में आगे चलकर लाल-बाल-पाल ..

प्रख्यात गीतकार, पद्मश्री और पद्म भूषण से सम्मानित कवि गोपालदास नीरज का निधन

भोपाल(विसंके).  सांसों की डोर के आखिरी मोड़ तक बेहतहरीन नगमे लिखने के ख्वाहिशमंद मशहूर गीतकार और पद्मभूषण से सम्मानित कवि गोपालदास नीरज का गुरुवार शाम दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया. वह 93 वर्ष के थे. शाम 7:35 बजे ..

20 जुलाई / पुण्य तिथि - महान क्रांतिकारी बटुकेश्वर दत्त

यह इतिहास की विडम्बना है कि अनेक क्रान्तिकारी स्वतन्त्रता के युद्ध में सर्वस्व अर्पण करने के बाद भी अज्ञात या अल्पज्ञात ही रहे। ऐसे ही एक क्रान्तिवीर बटुकेश्वर दत्त का जन्म 18 नवम्बर, 1910 को ग्राम ओएरी खंडा घोष (जिला बर्दमान, बंगाल) म..

जन्म दिवस – 19 जुलाई / क्रान्तिवीर मंगल पाण्डे

भोपाल(विसंके). अंग्रेजी शासन के विरुद्ध चले लम्बे संग्राम का बिगुल बजाने वाले पहले क्रान्तिवीर मंगल पांडे का जन्म 19 जुलाई, 18 27 को ग्राम नगवा (बलिया, उत्तर प्रदेश) में हुआ था।  युवावस्था में ही वे सेना में भर्ती हो गये थे। उन दिनों सैनिक..

“परमवीर चक्र” मेजर पीरू सिंह शेखावत / बलिदान दिवस -18 जुलाई

मेजर पीरू सिंह शेखावत  का जन्म 20 मई 1918 को गाँव रामपुरा बेरी, (झुँझुनू) राजस्थान में हुआ . वह 20 मई 1936 को 6 राजपुताना रायफल्स में भर्ती हुए.1948 की गर्मियों में जम्मू & कश्मीर ऑपरेशन के दौरान पाकिस्तानी सेना व कबाईलियों ने संयुक्त रूप से..

17 जुलाई-/-पुण्य-तिथि – रज्जू भैया के विश्वस्त सहायक श्री शिवप्रसाद जी

संघ के वरिष्ठ प्रचारक श्री शिवप्रसाद जी का जन्म 1926 ई. में ग्राम टेंडवा अल्पी मिश्र (जिला बहराइच, उ.प्र.) में हुआ था। उनके पिता श्री सियाराम गौड़ कपूरथला रियासत में जिलेदार अर्थात राजस्व अमीन थे। उनके छोटे भाई श्री दुखहरणनाथ गौड़ बेसिक शिक्षा परिषद में प्र..

17 जुलाई / जन्म दिवस - परमवीर चक्र फ़्लाइंग ऑफ़िसर निर्मलजीत सिंह सेखों

शौर्य गाथा : परमवीर चक्र फ्लाइंग ऑफिसर निर्मलजीत सिंह सेखों ने 1971 में पाकिस्तान के विरुद्ध लड़ते हुए वीरगति पाई.इस युद्ध में भारत विजयी हुआ और पाकिस्तान से टूटकर उसका पूर्वी हिस्सा, बांग्लादेश के नाम से स्वतंत्र राष्ट्र बन गया. उस समय निर्..

16 जुलाई--जन्म-दिवस / शंकराचार्य, पूज्य स्वामी जयेन्द्र सरस्वती

भोपाल(विसंके). हिन्दू धर्म में शंकराचार्य का बहुत ऊँचा स्थान है। अनेक प्रकार के कर्मकाण्ड एवं पूजा आदि के कारण प्रायः शंकराचार्य मन्दिर-मठ तक ही सीमित रहते हैं। शंकराचार्य की चार प्रमुख पीठों में से एक कांची अत्यधिक प्रतिष्ठित है। इसके शंकराचार्य श्री जये..

16 जुलाई - जन्म दिन / स्वतंत्रता सेनानी अरुणा आसिफ़ अली

स्वतंत्रता सेनानी अरुणा आसिफ़ अली का जन्म तत्कालीन पंजाब के कालका नमक स्थान पर एक बंगाली ब्रह्मण परिवार में  हुआ था । बचपन से ही अद्भुत प्रतिभावान अरुणा जी की शिक्षा-दीक्षा लाहौर और नेनिताल से सम्पन्न हुई । स्नातक में उत्तीर्ण होने के बाद इन..

14 जुलाई - पुण्य तिथि / राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के चतुर्थ सरसंघचालक प्रो. राजेन्द्र सिंह (रज्जू भैया)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के चतुर्थ सरसंघचालक प्रो. राजेन्द्र सिंह का जन्म 29 जनवरी, 1922 को ग्राम बनैल (जिला बुलन्दशहर, उत्तर प्रदेश) के एक सम्पन्न एवं शिक्षित परिवार में हुआ था। उनके पिता कुँवर बलबीर सिंह अंग्रेज शासन में पहली बार बने भारतीय मुख्य अभियन्त..

शूरवीर बाजीप्रभु देशपाण्डे / बलिदान दिवस – 13 जुलाई

शिवाजी महाराज द्वारा स्थापित हिन्दू पद-पादशाही की स्थापना में जिन वीरों ने नींव के पत्थर की भांति स्वयं को विसर्जित किया, उनमें बाजीप्रभु देशपाण्डे का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। एक बार शिवाजी 6,000 सैनिकों के साथ पन्हालगढ़ में घिर गये। किले के बाहर सि..

फ्री​ स्टाइल ​कुश्ती चैम्पियन दारा सिंह / पुण्य तिथि -12 जुलाई

दारा सिंह (पूरा नाम: दारा सिंह रन्धावा) अपने जमाने के विश्व प्रसिद्ध फ्रीस्टाइल पहलवान रहे हैं। उन्होंने 1959 में पूर्व विश्व चैम्पियन जार्ज गारडियान्का को पराजित करके कामनवेल्थ की विश्व चैम्पियनशिप जीती थी। 1968 में वे अमरीका के विश्व..

11 जुलाई / जन्म दिवस - स्वतन्त्रता सेनानी पहाड़ी गांधी बाबा काशीराम

बाबा काशीराम का नाम हिमाचल प्रदेश के स्वतन्त्रता सेनानियों की सूची में शीर्ष पर लिया जाता है। उनका जन्म ग्राम पद्धयाली गुर्नाड़ (जिला कांगड़ा) में 11 जुलाई, 1888 को हुआ था। इनके पिता श्री लखनु शाह तथा माता श्रीमती रेवती थीं। श्री लखनु शाह और उनके परिवार क..

10 जुलाई-पुण्य-तिथि / पारदर्शी व्यवस्था के प्रेमी मिश्रीलाल तिवारी

भोपाल(विसंके). श्री मिश्रीलाल तिवारी ने संघ की प्रेरणा से कार्यरत ‘वनवासी कल्याण आश्रम’ के काम को बहुत गहराई तक पहुंचाया। उनका परिवार मूलतः मध्य प्रदेश में मुरैना जिले के ग्राम तवरघार का निवासी था; पर तीन पीढ़ी पहले उनके पूर्वज मध्य प्रदेश के श..

10 जुलाई, 1806 / ब्रिटिश सेना के विरुद्ध वेलूर विद्रोह

भारतीय इतिहास में सन 1857 को देश के पहले स्वाधीनता संग्राम के रूप में याद किया जाता है हालांकि इससे पहले भी कई छोटे युद्ध हो चुके थे। इस क्रम में सबसे पहली पहल सन 1806 में आज ही के दिन 10 जुलाई को की गई थी। वेल्लोर म्यूटिनी के नाम से मशहूर इस पहली जंग में..

9 जुलाई - पुण्य तिथि / विट्ठल भक्त : जैतुनबी

कुछ लोगों का जन्म भले ही किसी अन्य मजहब वाले परिवार में हुआ हो; पर वे अपने पूर्व जन्म के अच्छे कर्म एवं संस्कारों के कारण हिन्दू मान्यताओं के प्रति आस्थावान होकर जीवन बिताते हैं। पुणे के पास बारामती जिले में स्थित मालेगांव (महाराष्ट्र) में एक मुसलमान घर म..

7 जुलाई / जन्म-दिवस - सिख पन्थ के आठवें गुरु हरिकिशन जी

भोपाल(विसंके). सिख पन्थ के इतिहास में आठवें गुरु हरिकिशन जी का बड़ा महत्त्वपूर्ण स्थान है। सात जुलाई, 1657 को जन्मे गुरु हरिकिशन जी को बहुत छोटी अवस्था में गुरु गद्दी प्राप्त हुई तथा छोटी आयु में ही बीमारी के कारण उन्होंने देह त्याग दी, पर इस अल्प जीवन मे..

परमवीर कैप्‍टन विक्रम बत्रा / बलिदान दिवस – 7 जुलाई, 1999

‘ये दिल मांगे मोर,‘ को अगर सही मायनों में किसी ने पहचान दी तो वह थे कश्‍मीर राइफल्‍स के बहादुर सिपाही कैप्‍टन विक्रम बत्रा। विक्रम बत्रा ने जुलाई 1996 में उन्होंने भारतीय सेना अकादमी देहरादून में प्रवेश लिया। दिसंबर ..

वन्दनीय मौसीजी (लक्ष्मीबाई केलकर) : नारी जागरण की अग्रदूत / जन्म दिवस – 6 जुलाई

भोपाल(विसंके). बंगाल विभाजन के विरुद्ध हो रहे आन्दोलन के दिनों में छह जुलाई, 1905 को नागपुर में कमल नामक बालिका का जन्म हुआ। कमल के घर में देशभक्ति का वातावरण था। उसकी माँ जब लोकमान्य तिलक का अखबार ‘केसरी’ पढ़ती थीं, तो कमल भी गौर से उस..

5 जुलाई / पुण्य तिथि – हँसकर मृत्यु को अपनाने वाले अधीश जी

भोपाल(विसंके). किसी ने लिखा है – तेरे मन कुछ और है, दाता के कुछ और . संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख श्री अधीश जी के साथ भी ऐसा ही हुआ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लिए उन्होंने जीवन अर्पण किया; पर विधाता ने52 वर्ष की अल्पायु में ही उन..

5 जुलाई-जन्म-दिवस / वरिष्ठ प्रचारक रामदौर सिंह

भोपाल(विसंके). पहले संघ और फिर भारतीय मजदूर संघ में कार्यरत वरिष्ठ प्रचारक श्री रामदौर सिंह का जन्म पांच जुलाई, 1941 को ग्राम अन्नापुर (जिला अम्बेडकर नगर, उ.प्र.) में श्री धर्मराज सिंह तथा श्रीमती धनंजया देवी के घर में हुआ था। 1956 में बाल्यवस्था में ही व..

महान प्रेरणा स्रोत स्वामी विवेकानंद / पूण्य तिथि – 4 जुलाई 1902

भोपाल(विसंके).भारतीय संस्कृति को विश्व स्तर पर पहचान दिलाने वाले महापुरुष स्वामी विवेकानंद जी का जन्म 12 जनवरी 1863 को सूर्योदय से 6 मिनट पूर्व 6 बजकर 33 मिनट 33 सेकेन्ड पर हुआ। भुवनेश्वरी देवी के विश्वविजयी पुत्र का स्वागत मंगल शंख बजाकर मंगल ध..

परमवीर चक्र कैप्टन मनोज पाण्डेय / बलिदान दिवस – 3 जुलाई, 1999

कैप्टन मनोज पाण्डेय की कारगिल युद्ध मे वीरता दिखाने की वीरगाथा और 2 व् 3 जुलाई की मध्य रात्रि में अधम्य जोश से “खालुबार” की पहाडीयों को फिर से हासिल करने का ब्यौरा अभूतपूर्व है. उनके प्राण न्योछावर में भी गौरव की अनुभूति थी क्योकि उन..

सिद्धयोगी स्वामी राम / जन्म दिवस – 2 जुलाई

त्यागी और तपस्वियों की भूमि भारत में अनेक तरह के योगी हुए हैं। केवल भारत ही नहीं, तो विश्व के धार्मिक विद्वानों, वैज्ञानिकों एवं चिकित्सकों को अपनी यौगिक क्रियाओं से कई बार चमत्कृत कर देने वाले सिद्धयोगी स्वामी राम का नाम असहज योग की परम्परा में शीर्ष पर ..

भारत रत्न : डॉ. विधानचन्द्र राय / जन्म दिवस – 1 जुलाई

डॉ. विधानचन्द्र राय का जन्म बिहार की राजधानी पटना में एक जुलाई1882 को हुआ था। बचपन से ही कुशाग्र बुद्धि विधानचन्द्र राय की रुचि चिकित्सा शास्त्र के अध्ययन में थी। भारत से इस सम्बन्ध में शिक्षा पूर्ण कर वे उच्च शिक्षा के लिए लन्दन गये। लन्दन मैडिकल क१लिज ..

देहदानी : शिवराम पंत जोगलेकर / पुण्यतिथि तिथि – 29 जून

भोपाल(विसंके). बात 1943 की है। श्री गुरुजी ने युवा प्रचारक शिवराम जोगलेकर से पूछा – क्यों शिवराम, तुम्हें रोटी अच्छी लगती है या चावल ? शिवराम जी ने कुछ संकोच से कहा – गुरुजी, मैं संघ का प्रचारक हूं। रोटी या चावल, ..

28 जून / जन्मदिवस - संत कबीरदास

भोपाल(विसंके). महात्मा कबीर का जन्म-काल  कबीर हिंदी साहित्य के महिमामण्डित व्यक्तित्व हैं। कबीर के जन्म के संबंध में अनेक किंवदन्तियाँ हैं। कुछ लोगों के अनुसार वे रामानन्द स्वामी के आशीर्वाद से काशी की एक विधवा ब्राह्मणी के गर्भ से पैदा हुए थे, ज..

अनुपम दानी भामाशाह / जन्म दिवस – 28 जून

भोपाल(विसंके). दान की चर्चा होते ही भामाशाह का नाम स्वयं ही मुँह पर आ जाता है। देश रक्षा के लिए महाराणा प्रताप के चरणों में अपनी सब जमा पूँजी अर्पित करने वाले दानवीर भामाशाह का जन्म अलवर (राजस्थान) में 28 जून, 1547 को हुआ था। उनके पिता श्री..

शेर-ए-पंजाब महाराजा रणजीत सिंह / पूण्य तिथि – 27 जून 1839

भोपाल(विसंके). महाराजा रणजीत सिंह  शेर-ए पंजाब के नाम से प्रसिद्ध हैं। महाराजा रणजीत एक ऐसी व्यक्ति थे, जिन्होंने न केवल पंजाब को एक सशक्त सूबे के रूप में एकजुट रखा, बल्कि अपने जीते-जी अंग्रेजों को अपने साम्राज्य के पास भी नहीं फट..

26 जून / जन्मदिवस / वन्देमातरम के गायक - बंकिमचन्द्र चटर्जी

भोपाल(विसंके). भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम में वन्देमातरम् नामक जिस महामन्त्र ने उत्तर से दक्षिण और पूरब से पश्चिम तक जन-जन को उद्वेलित किया, उसके रचियता बंकिमचन्द्र चटर्जी का जन्म ग्राम काँतलपाड़ा, जिला हुगली,पश्चिम बंगाल में 26 जून, 1838 को हुआ था। प्राथ..

कार्ल लैंडस्टीनर रक्‍त समूह (BLOOD GROUP) के जनक – पुण्य तिथि 26 जून 1943

भोपाल(विसंके). कार्ल लैंडस्टीनर (karl landsteiner) जिन्‍हें को रक्‍त समूह का जनक माना जाता है 14 जून 1868 को कार्ल लैंडस्टीनर का जन्‍म वियना, ऑस्ट्रिया  में हुआ था उस समय में ऐसा माना जाता था कि मनुष्‍य में दो तरह का रक्‍त होता है..

महारानी दुर्गावती / बलिदान दिवस – 24 जून

भोपाल(विसंके). महारानी दुर्गावती कालिंजर के राजा कीर्तिसिंह चंदेल की एकमात्र संतान थीं। महोबा के राठ गांव में 1524 ई. की दुर्गाष्टमी पर जन्म के कारण उनका नाम दुर्गावती रखा गया। नाम के अनुरूप ही तेज, साहस और शौर्य के कारण इनकी प्रसिद्धि..

डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी / बलिदान दिवस – 23 जून 1953

भोपाल(विसंके). छह जुलाई, 1901 को कोलकाता में श्री आशुतोष मुखर्जी एवं योगमाया देवी के घर में जन्मे डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी को दो कारणों से सदा याद किया जाता है। पहला तो यह कि वे योग्य पिता के योग्य पुत्र थे। श्री आशुतोष मुखर्जी कलकत्ता विश्वविद्यालय ..

नगर सेठ अमरचन्द बांठिया / बलिदान दिवस – 22 जून

भोपाल(विसंके). स्वाधीनता समर के अमर सेनानी सेठ अमरचन्द मूलतः बीकानेर (राजस्थान) के निवासी थे। वे अपने पिता श्री अबीर चन्द बाँठिया के साथ व्यापार के लिए ग्वालियर आकर बस गये थे। जैन मत के अनुयायी अमरचन्द जी ने अपने व्यापार में परिश्रम, ईमानदारी एव..

प. पू. डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार / पूण्य तिथि – 21 जून, 1940

भोपाल(विसंके). भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार जिन्होंने अपना समूचा जीवन हिंदू समाज व राष्ट्र के लिए समर्पित कर दिया था, आज उनकी जयंती है. शास्त्र के ज्ञाता केशव बलिराम हेडगेवार का जन्म 1 अप्रैल, 1889 ( गुडी पड़वा के दिन) को न..

19 जून / बलिदान-दिवस - भील बालिका कालीबाई

भोपाल(विसंके). 15 अगस्त 1947 से पूर्व भारत में अंग्रेजों का शासन था। उनकी शह पर अनेक राजे-रजवाड़े भी अपने क्षेत्र की जनता का दमन करते रहते थे। फिर भी स्वाधीनता की ललक सब ओर विद्यमान थी, जो समय-समय पर प्रकट भी होती रहती थी। राजस्थान की एक रियासत डूंगरपु..

राजा दाहिरसेन – बलिदान-दिवस / 20 जून, 712

भोपाल(विसंके). भारत को लूटने और इस पर कब्जा करने के लिए पश्चिम के रेगिस्तानों से आने वाले मजहबी हमलावरों का वार सबसे पहले सिन्ध की वीरभूमि को ही झेलना पड़ता था। इसी सिन्ध के राजा थे दाहरसेन, जिन्होंने युद्धभूमि में लड़ते हुए प्राणाहुति दी। उनके बाद उ..

खूब लड़ी मर्दानी वह तो…. रानी लक्ष्मीबाई / बलिदान दिवस – 18 जून, 1858

भोपाल(विसंके). भारत में अंग्रेजी सत्ता के आने के साथ ही गाँव-गाँव में उनके विरुद्ध विद्रोह होने लगा; पर व्यक्तिगत या बहुत छोटे स्तर पर होने के कारण इन संघर्षों को सफलता नहीं मिली। अंग्रेजों के विरुद्ध पहला संगठित संग्राम 1857 में हुआ। इसमें..

अहिंसा यात्रा के पथिक : आचार्य महाप्रज्ञ / जन्म दिवस – 14 जून

आतंकवाद, अशांति, अनुशासनहीनता और अव्यवस्था से विश्व को बचाने का एकमात्र उपाय अहिंसा ही है। देश के दूरस्थ गांवों में लाखों कि.मी पदयात्रा कर यह संदेश फैलाने वाले जैन सन्त आचार्य महाप्रज्ञ का जन्म14 जून, 1920 (आषाढ़ कृष्ण 13) को राज..

महासमर के योद्धा बाबासाहब नरगुन्दकर / बलिदान दिवस – 12 जून, 1858

भोपाल(विसंके). भारत माँ को दासता की शृंखला से मुक्त कराने के लिए 1857 में हुए महासमर के सैकड़ों ऐसे ज्ञात और अज्ञात योद्धा हैं, जिन्होंने अपने शौर्य,पराक्रम और उत्कट देशभक्ति से ने केवल उस संघर्ष को ऊर्जा दी, बल्कि भावी पीढ़ियों के लिए..

11 जून / जन्मदिवस – काकोरी कांड के नायक पंडित रामप्रसाद बिस्मिल को नमन

भोपाल(विसंके). पंडित रामप्रसाद का जन्म  11 जून, 1897 को शाहजहांपुर, उत्तर प्रदेश में हुआ था. इनके पिता मुरलीधर जी शाहजहांपुर नगरपालिका में कर्मचारी थे. पर, आगे चलकर उन्होंने नौकरी छोड़कर निजी व्यापार शुरू कर दिया. रामप्रसाद जी बचप..

9 जून, पुण्य-तिथि / समरसता के नव संशोधक - रामफल सिंह

भोपाल(विसंके). अस्पृश्यता, जातिभेद तथा ऊंचनीच हिन्दू परम्परा का अंग नहीं हैं। यह बीमारियां मुसलमान आक्रांताओं की देन हैं, जिन्हें अंग्रेजों ने अपने हित के लिए खूब हवा दी। इस विचार को समाज में स्थापित कर समरसता अभियान को नयी दिशा देने वाले श्री रामफल सिंह ..

वीर बिरसा मुंडा / बलिदान दिवस – 9 जून, 1900

भोपाल(विसंके). स्वतंत्रता संग्राम के दौरान भारतभूमि पर ऐसे कई नायक पैदा हुए जिन्होंने इतिहास में अपना नाम स्वर्णाक्षरों से लिखवाया. एक छोटी सी आवाज को नारा बनने में देर नहीं लगती बस दम उस आवाज को उठाने वाले में होना चाहिए और इसकी जीती जागती मिसाल थे बिरसा..