भारतीय जन संचार संस्‍थान में  ‘भारतीय भाषाओं में अंतर-संवाद’ विषय पर वेबिनार

भारतीय जन संचार संस्‍थान में ‘भारतीय भाषाओं में अंतर-संवाद’ विषय पर वेबिनार

    नई दिल्‍ली -  14 सितम्‍बर, 2020.’’भाषा का संबंध इतिहास, संस्‍कृति और परम्‍पराओं से है। भारतीय भाषाओं में अंतर-संवाद की परम्‍परा पुरानी है और ऐसा सैकड़ों वर्षों से होता आ रहा है, यह उस दौर में भी हो रह

तंबाकू मुक्त चित्रकूट के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता अभियान द्वारा लोगो को तंबाकू सेवन छोड़ने को करें प्रेरित - अभय महाजन

तंबाकू मुक्त चित्रकूट के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता अभियान द्वारा लोगो को तंबाकू सेवन छोड़ने को करें प्रेरित - अभय महाजन

      दीनदयाल शोध संस्थान एवं सलाम मुंबई फाउंडेशन द्वारा "तम्बाकू मुक्त विद्यालय" पर वेबीनार सम्पन्न   चित्रकूट: छात्रों को "तंबाकू छोड़िए-अच्छी सेहत से जुड़िये" इसके लिए अभिभावकों सहित अपने आसपास के लोगों को बताएं कि तंबाकू सेवन

जनजाति समाज में बीटीपी के विरुद्ध रोष,संत समाज ने ज्ञापन सौंपा

राजस्थान के जनजाति समाज में भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के विरुद्ध रोष बढ़ता जा रहा है. बीटीपी लम्बे समय से जनजाति संस्कृति व परम्पराओं के विरुद्ध दुष्प्रचार कर वैमनस्य पैदा करने का काम कर रही है. बीटीपी की गतिविधियों से रुष्ट जनजाति संत समाज ने व

  • सबहिं नचावत राम गोसाईं  -जयराम शुक्ल

    सबहिं नचावत राम गोसाईं  -जयराम शुक्ल

        एक मित्र सायकिल की दुकान पर मिल गए। बाहर उनकी चमचमाती कार खड़ी थी। मैंने पूछा-यहां कैसे? वो बोले- डाक्टर ने कहा सायकिल से चला करिए सो सायकिल से बचपन शुरू हुआ और अब बुढापा भी। दूकान वाले ने दार्शनिक अंदाज में कहा- क्या करियेगा ये जिंदगी भी

    18 Sep 2020

  • वो यात्रा जो सफलता से अधिक संघर्ष बयाँ करती है। 

    वो यात्रा जो सफलता से अधिक संघर्ष बयाँ करती है। 

    आज भारत विश्व में अपनी नई पहचान के साथ आगे बढ़ रहा है। वो भारत जो कल तक गाँधी का भारत था जिसकी पहचान उसकी सहनशीलता थी, आज मोदी का भारत है जो खुद पहल करता नहीं, किसी को छेड़ता नहीं लेकिन अगर कोई उसे छेड़े तो छोड़ता भी नहीं। गाँधी के भारत से शायद ही क

    18 Sep 2020

  • शी जिनपिंग इन दिनों इतिहास में अमर होने की अपनी चाह में युद्ध पिपासु बन बैठे हैं

    शी जिनपिंग इन दिनों इतिहास में अमर होने की अपनी चाह में युद्ध पिपासु बन बैठे हैं

                                    उमेश उपाध्याय      महाभारत के वनपर्व में यक्ष का प्रश्न था कि इस सृष्टि में सबसे बड़ा आश्चर्य क्या है?युधिष्ठि..

    17 Sep 2020

  • अक्षर पुरुष  : बापू वाकणकर

    अक्षर पुरुष  : बापू वाकणकर

      दुनिया भर में लिपि विशेषज्ञ के नाते प्रसिद्ध श्री लक्ष्मण श्रीधर वाकणकर लोगों में बापू के नाम से जाने जाते थे। उनके पूर्वज बाजीराव पेशवा के समय मध्य प्रदेश के धार नगर में बस गये थे। उनके अभियन्ता पिता जब गुना में कार्यरत थे, उन दिनों 1..

    17 Sep 2020

  • दत्तोपंत ठेंगड़ी – एक श्रेष्ठ चिंतक, संगठक और दीर्घदृष्टा

    दत्तोपंत ठेंगड़ी – एक श्रेष्ठ चिंतक, संगठक और दीर्घदृष्टा

       डॉ. मनमोहन वैद्य    जिस समय स्वर्गीय दत्तोपंत ठेंगड़ी जी ने भारतीय मजदूर संघ की स्थापना की वह साम्यवाद के वैश्विक आकर्षण, वर्चस्व और बोलबाले का समय था. उस परिस्थिति में राष्ट्रीय विचार से प्रेरित शुद्ध भारतीय विचार पर आधारित ए

    17 Sep 2020

E-विचार एवं समन्वय सेवा और संवाद
जागरण पत्रिका