केंद्र सरकार सख्त, मध्यप्रदेश में लग सकता है राष्ट्रपति शासन

केंद्र सरकार सख्त, मध्यप्रदेश में लग सकता है राष्ट्रपति शासन

  भोपाल- देशभर एनपीआर को लेकर मचे हंगामे के बीच विगत 17 फरवरी  मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने प्रदेश में एनपीआर ना लागू करने की घोषणा की थी और सरकार का अब यही फैसला उनकी गले की फांस बन सकता है। भाजपा प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद जेवीएल नरसिम्हा

संस्कृत में शोधकार्य करने वाले ब्रजेन्द्र मालवीय को पीएचडी

संस्कृत में शोधकार्य करने वाले ब्रजेन्द्र मालवीय को पीएचडी

  आज के समय में संस्कृत पढ़ने वालों की संख्या कम हो रही है, लोगों का झुकाव अंग्रेजी की तरफ हो रहा है। ऐसे में संस्कृत में शोध कार्य करना और पीएचडी की उपाधि प्राप्त करना एक सराहनीय प्रयास है। देवरिया जिला के पटनेजी गांव के रहने वाले ब्रजेन्द्र

12वें  पं. बृजलाल द्विवेदी साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान से सम्मानित होंगे श्री कमलनयन पाण्डेय

  गांधी भवन में 9 फरवरी को आयोजित होगा मीडिया विमर्श का सम्मान समारोह भोपाल। मीडिया विमर्श के सारस्वत आयोजन में 9 फरवरी को त्रैमासिक पत्रिका ‘युगतेवर’ (सुलतानपुर, उत्तर प्रदेश) के संपादक कमलनयन पाण्डेय को प्रतिष्ठित साहित

  • सिद्धांतप्रिय राजनेता वसंतभाई गजेन्द्र गडकर

    सिद्धांतप्रिय राजनेता वसंतभाई गजेन्द्र गडकर

    आजकल राजनीति को सिद्धांतप्रियता का विलोम माना जाता है; पर वसंतभाई गजेन्द्र गडकर इस मामले में अपवाद रहे। गुजरात में जनसंघ के कार्य को दृढ़ करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। अपने परिचितों में वे ‘राव साहब’ के नाम से प्रसिद्ध थे। वे कर्णा

    17 Feb 2020

  • आरक्षण पर सरकार को घेरने की कुचेष्टा कर रही कांग्रेस!

    आरक्षण पर सरकार को घेरने की कुचेष्टा कर रही कांग्रेस!

    कृष्णमोहन झा/   यह बड़े आश्चर्य की बात है कि कांग्रेस पार्टी अपनी ही पूर्ववती सरकारों द्वारा अतीत में लिए गए फैसलों के लिए केंद्र की वर्तमान मोदी सरकार को घेरने का प्रयास करती रही है।1951 में स्वर्गीय प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने पाकिस्तान के त

    17 Feb 2020

  • आध्यात्मिक कर्मयोगी: श्री गुरुजी-भाग 1

    आध्यात्मिक कर्मयोगी: श्री गुरुजी-भाग 1

    राष्ट्राभिमुख समाज रचना के पुरोधा आदरणीय माधवराव सदाशिवराव गोलवलकर उपाख्य ‘श्री गुरु जी’ के राष्ट्र समर्पित जीवन के अनेक प्रेरक प्रसंग हमारा मार्ग दर्शन कर सकते हैं. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के द्वितीय सरसंघचालक श्री गुरुजी ने

    17 Feb 2020

  • विविधता के मूल में एकता की अनुभूति

    विविधता के मूल में एकता की अनुभूति

    डॉ. मनमोहन वैद्य भारतीय समाज की कुछ विशेषताएं हजारों वर्षों की सामाजिक यात्रा के कारण उसकी पहचान बन गई हैं. इस पहचान को बनाए रखने का अर्थ है राष्ट्रीय होना. अपनी स्थापना के करीब 20 वर्ष बाद कांग्रेस ने ब्रिटिश विरोधी स्वतंत्रता आंदोलन का रूप लिया. तब

    15 Feb 2020

  • भारत के उत्थान का आधार है सांस्कृतिक राष्ट्रजीवन-3

    भारत के उत्थान का आधार है सांस्कृतिक राष्ट्रजीवन-3

     भारतीय चिंतन में राष्ट्र एक महान जीवमान, स्वयंभू सांस्कृतिक इकाई है, जबकि पश्चिम में राष्ट्र को राज्य मानकर एक राजनीतिक परिकल्पना मान लिया गया है. भारतीय चिंतन के अनुसार राष्ट्र प्रकृति की एक सहज परिकल्पना के अंतर्गत ही अस्तित्व में आते

    15 Feb 2020

E-विचार एवं समन्वय सेवा और संवाद
जागरण पत्रिका